Home Cultural View History Promotion Tribal Christianity Literature News Download Tutorial Members Area Touch It

रांची की अर्चना तिर्की ने केबीसी में जीते 50 लाख

राँचीः सितम्बर 01, 2014:

 

    

 

विगत् 25 अगस्त को राँची की रहने वाली अर्चना तिर्की के.बी.सी.के हॉट सीट पर सुप्रसिद्ध सिने कलाकार अमिताभ बच्चन के साथ बैठी थीं। उसने यह साबित कर दिया कि उराँव आदिवासियों में भी बुद्धि की कमी नहीं होती; दृढ़ इच्छा और लगन से वे कुछ भी कर सकते हैं। बैंक ऑफ बड़ौदा, तुपदाना, राँची की महिला मैनेजर अर्चना तिर्की ने दुनियाँ के सुप्रसिद्ध टी.व्ही. कार्यक्रम कौन बनेगा महाकरोड़ पति में अमिताभ बच्चन के द्वारा पुछे गये सवालों के जबाब देकर 50 लाख रूपये जीत लिये। अर्चना तिर्की ने बहुत सहज ढंग से सवालों के जबाब दिये, हाँलाकि गेम खेलने के दौरान उन्हें हेल्पलाइन का सहारा भी लेना पड़ा। सवालों के जबाब देते समय वह अपने निर्णय पर अडिग रही। 50 लाख जीतने के बाद एंकर अमिताभ बच्चन ने एक करोड़ रूपए के लिये सवाल उछाला। सवाल था, महिला क्रिकेटरों में प्रथम बार अर्जुन अवार्ड किसे मिला? उनके पास चार विकल्प थे, डायना एडुलजी, शांता रंगास्वामी, अंजली जैन और मिताली राज। इस सवाल को देखते ही अर्चना तिर्की जवाब न देकर गेम छोड़ देने की इच्छा जाहिर कर दी। उसका निर्णय बिल्कुल सही था, क्योंकि इस सवाल का जबाब उन्हें मालूम नहीं था, और न ही उनके पास कोई हेल्पलाइन बचे थे। गेम छोड़ने के बाद उन्होंने मिताली राज को अर्जुन एवार्ड मिलना बताया, जो एकदम गलत था। इस प्रकार अर्चना तिर्की ने 50 लाख रूपए जीतकर बहुत खुश थी।

       अर्चना तिर्की के पति बेसिल तिर्की रांची रेलवे में हेल्थ इंस्पेक्टर हैं। अर्चना की दो बेटियाँ अन्नया और सुहाना हैं। अन्नया 8वीं कक्षा में और सुहाना चौथी कक्षा में पढ़ती हैं। अन्नया जन्म से क्रिन्योफेसियल की शिकार है। उसके इलाज में अबतक 20 लाख रूपए खर्च हो चुके हैं। अर्चना की इच्छा है कि वह अपनी बेटी का इलाज पूर्ण करके रहेगी। उसकी यही दृढ़ इच्छा शक्ति ने उसे केबीसी में भाग लेने का अवसर प्रदान किया। केबीसी में हिस्सा लेने के लिए उसने दिन-रात मेहनत किया। आखिर केबीसी में गेम खेलने का मौका उसे मिल ही गया। अन्नया का इलाज कराने के लिए लगभग 30 हजार रूपए और खर्च करने होंगे, जो अब उसे मिल ही गया है। उसे उम्मीद है कि उनकी बेटी को अब नया जीवन शीघ्र मिलने वाला है। अर्चना तिर्की की जीत पर उनके पति बेसिल तिर्की और दोनों बेटियाँ बहुत खुश हैं। इस जीत को लेकर राँची क्षेत्र के बैंक कर्मियों, आदिवासियों और आम लोगों के बीच बहुत चर्चा और उत्साह का माहौल है। बैंक ऑफ बड़ौदा के अंचल प्रमुख सुयश कुमार शॉ ने बड़ी संख्या में उपस्थित प्रबंधकों और स्टॉफ के बीच स्मृति चिन्ह और शॉल भेंट कर उन्हें सम्मानित किया।

***

 

KurukhWorld  की ओर से अर्चना तिर्की को लाख-लाख बधाई!

 

समाचार पंक्तियाँ