Home Cultural View History Promotion Tribal Christianity Literature News Download Tutorial Members Area Touch It
11

सरहुल महोत्सव की शोभा यात्रा अप्रेल 13 को निकाली जायगी

राँचीः अप्रेल 04, 2013:

विभिन्न स्रोतों से मिली खबर के अनुसार इस वर्ष अप्रेल 13 को झारखण्ड प्रांत के राँची, लोहरदगा, गुमला और अन्य शहरों में वृहद आयोजन और शोभायात्रा निकाली जायगी। सरहुल त्यौहार के अवसर पर लोगों की सुरक्षा तथा सफलता हेतू कई सरहुल पूजा समितियों तथा राज्य प्रशासन की ओर से व्यापक तैयारियाँ की जा रही है।

रातू बड़काटोली झखरा में केन्द्रीय सरहुल पूजा समिति की अहम बैठक 17 मार्च को समिति के अध्यक्ष श्री चारे भगत की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। जिसमें सरहुल पूजा महोत्सव के उपलक्ष्य में व्यापक चर्चा की गई। सरहुल महोत्सव तथा शोभायात्रा की सफलता हेतू लोगों से सहयोग की अपेक्षा की गई है। उधर गुमला में भी केंद्रीय सरहुल संचालन समिति की बैठक दुंदुरिया में हुई, जिसमे अगामी सरहुल महोत्सव धूमधाम से मनाने का निर्णय लिया गया है। बैठक में संचालन को सुचारू तरीके से सम्पन्न कराने हेतू एक समिति का गठन किया गया है जिसका अध्यक्ष गंगाधर भगत को बनाया गया है। और सांसद सुदर्शन भगत, विधायक कमलेश उराँव, गीताश्री उराँव और चमरा लिंडा को मुख्य संरक्षक बनाया गया है। लोहरदगा में बी. एस. कॉलेज लोहरदगा में भी सरहुल महापर्व की सफलता हेतू केंद्रीय सरना समिति की बैठक होने की खबर मिली है। बैठक में प्रोसुरा उराँव ने सरहुल पूजा महोत्सव के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा, कि पृथ्वी और सूर्य की पूजा चाला टोंका में की जाती है। सरहुल हमारी संस्कृति और सभ्यता को बल देता है। सरहुल की शोभायात्रा में ग्रामीण क्षेत्रों से पारंपरिक रूप में संस्कृतिक दलों को जोड़ने की बात कही गई। 13 अप्रेल को होने वाली सरहुल की शोभायात्रा में शामिल श्रद्धालुओं के स्वागत तथा राहत पहुँचाने हेतू पंडाल लगाकर चना, शरबत और ठण्ढे पानी की व्यवस्था विभिन्न समाजिक संगठनों के द्वारा किये जाने की संभावना है।

        राँची में अगामी सरहुल की शोभायात्रा को देखते हुए प्रशासन के द्वारा विधि-व्यवस्था बनाये रखने समेत अन्य तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। शोभायात्रा के दौरान साफ-सफाई तथा बिजली की समुचित व्यवस्था को लेकर उपायुक्त ने अधिकारियों को आवश्यक कदम उठाने हेतू निर्देश दिया है। उपायुक्त विनय कुमार चौबे ने शांतिपूर्ण और सौहार्दपूर्ण वातावरण में इस त्यौहार को मनाने की अपील की है। शोभायात्रा के दौरान एंबुलेंस, फायर बिग्रेड और पेयजल की समुचित व्यवस्था हेतू भी निर्देश दिया गया है। सरहुल की शोभायात्रा में बड़ी संख्या में महिलाओँ के भी शामिल होने की संभावना को देखते हुए, इनकी सुरक्षा हेतू महिला पुलिस बल की समुचित व्यवस्था भी की गई है।

       

समाचार पंक्तियाँ